भाषा परिवर्तन
(Change language)

अरे मेरी साइकिल..


Rating     3/ 5 based on 2 reviews
Viewed 79 times

नेताजी - चिल्ला -चिल्ला कर कह रहे थे -हर आदमी को हर चीज मिलनी चाहिए | जो चीज तुम्हें अच्छी लगे ,ले लो | यदि तुम्हें भूख लगे तो खाने की दूकान लूट लो | यदि ठण्ड लगे तो दुकान का सबसे अच्छा सिला कोट उठा लो.... भाषण देने के बाद वे मंच से नीचे उतरे और चिल्लाए -अरे मेरी साइकिल कौन उठा ले गया ?



Rate This Joke:      
Excellent
Very Good
Good
Average
Bad
Share On:-
Share to Twitter Share to Facebook