भाषा परिवर्तन
(Change language)

साहित्य प्रेमी दुल्हा..


Rating      4/ 5 based on 5566 reviews
Viewed 220465 times

साहित्य प्रेमी दूल्हा सुहागरात को अपनी दुल्हन से बोला - प्रिय , आज से ही तुम मेरी कविता हो , भावना हो कामना हो | दुल्हन ने यह सुनकर दूल्हे से कहा - मेरे लिए भी आज से तुम ही मेरे दिनेश हो ,सुरेश हो , राकेश हो , |



Rate This Joke:      
Excellent
Very Good
Good
Average
Bad
Share On:-
Share to Twitter Share to Facebook
Advertisements: